डाइजेशन को बेहतर बनाने वाले इन फूड्स की लें मदद…

अक्सर हमारी पाचन-क्रिया (Digestion) मंद पड़ जाती है. इसके चलते पेट में एक भारीपन सा महसूस होने लगता है. क्योंकि पाचन-तंत्र को ढंग से काम करते रहने के लिये शारीरिक गतिविधियों (Physical activities) का अहम योगदान होता है. इसलिये जब हम निष्क्रिय होकर देर तक बैठे रहते हैं तो उसका असर हमारी पाचन-क्रिया पर जरूर पड़ता है.

join WhatsApp group

उस पर जब हम कुछ ऐसी चीजों का सेवन कर लेते हैं जो पचने में काफी समय लेती हैं तो पेट से जुड़ी समस्यायें और भी बढ़ जाती हैं. इसलिये जरूरी यह है कि अगर हमें देर तक बैठे रहते हुये कोई काम करना है.

READ MORE : रावतपुरा सरकार विश्वविद्यालय में हुआ ”Teacher’s meet ” का आयोजन….

पपीता खायें

पपीते में विटामिन्स ए बी और सी पर्याप्त मात्रा में पाये जाते हैं. यह आसानी से पच जाता है और हमारे पाचन-तंत्र को ठीक रखता है. साथ ही पपीता हमारे शरीर से विषैले-तत्वों को बाहर निकालकर हमें डिटॉक्स भी करता है. हमारे मस्तिष्क और आंखों के लिये पपीता बहुत फ़ायदेमंद होता है.

READ MORE : छत्तीसगढ़ में मौसम अरब सागर से आने वाली हवा से बारिश के आसार…

सेब खायें

सेब सबसे पौष्टिक फलों में से एक है. इसमें कई सारे विटामिन्स और मिनरल्स के साथ ही फाइटोन्यूट्रिएंट्स व फाइबर की अच्छी मात्रा पाई जाती है. जो हमें भरपूर पोषक-तत्व उपलब्ध कराने के साथ ही पाचन-तंत्र को भी दुरुस्त बनाये रखता है. जानकार कहते हैं कि रोजाना एक सेब खाने से हम तमाम बीमारियों से बचे रह सकते हैं. साथ ही सेब के सेवन से हमारा मूड भी सही बना रहता है. इसके अलावा सेब हमारी आंतों में अच्छे बैक्टीरिया की संख्या में वृद्धि करता है. सेब को सीधे खाने के अलावा हम इसके जूस का भी सेवन कर सकते हैं

READ MORE : NEET PG Exam 2022: छात्रों कि मांग पर परीक्षा स्थगित,जाने क्या हैं वजह…..

चुकंदर आएगा काम

चुकंदर लाइकोपीन जैसे शक्तिशाली एंटी-ऑक्सीडेन्ट से भरपूर होता है. इसमें विटामिन्स और पोटैशियम मैग्नीशियम कैल्शियम व आयरन जैसे जरूरी मिनरल्स भी पाये जाते हैं. चुकंदर का नियमित सेवन करने से हम तमाम बीमारियों से तो बचे ही रहते हैं, साथ ही हमारा पाचन-तंत्र भी दुरुस्त रहता है. इसलिये देर तक बैठे रहते हुये काम करने की स्थिति में चुकंदर का सेवन काफी फ़ायदेमंद है.

दही खायें

दही भी हमारी आंतों में अच्छे बैक्टीरिया को बढ़ाने में बहुत सहयोगी है. इसके सेवन से हमें पाचन-तंत्र संबंधी दिक्कतें नहीं आने पातीं. दही का इस्तेमाल स्वाद और सेहत दोनों के लिहाज़ से सही होता है. हालांकि अगर आपको कफ की दिक्कत रहती है तो दही का सेवन दोपहर के समय करना चाहिये. इसकी आप स्मूदी भी बना सकते हैं और आप चाहें तो दही में चिया और सूरजमुखी या फिर फ्लैक्स के बीज मिलाकर भी ले सकते हैं.

इस लेख में दी गई जानकारियां और सूचनाएं सामान्य मान्यताओं पर आधारित हैं. Sri timesइनकी पुष्टि नहीं करता है.

You may have missed

Subscribe To Our Newsletter

[mc4wp_form id="69"]