मध्य प्रदेश में 24 घंटो में हुआ कोरोना बेक़ाबू …

79 हजार 689 सैंपल की जांच में इतने मरीज मिले हैं। इस तरह मंगलवार की संक्रमण दर 3.66 फीसद रही। सागर में मंगलवार को एक मरीज की मौत भी हुई है। राहत की बात यह है कि तीसरी लहर में सक्रिय मरीजों में से सिर्फ तीन फीसद मरीज ही अस्पतालों में भर्ती हैं, जबकि दूसरी लहर में 40 फीसद मरीज अस्पतालों में भर्ती रहते थे, जबकि 60 फीसद होम आइसोलेशन में रहते थे।

READ MORE : युवा दिवस : आज भी युवाओं के प्रेरणा श्रोत है स्वामी विवेकानंद…

दोनों लहरों में आइसीयू/एचडीयू में भर्ती मरीजों के आंकड़ों के विश्लेषण में यह भी सामने आया है कि दूसरी लहर में भर्ती मरीजों में करीब 10 फीसद आइसीयू/एचडीयू में भर्ती रहते थे। इस बार यह आंकड़ा तीन फीसद के आसपास है। 24 घंटे में प्रदेश में सबसे ज्यादा केस इंदौर में 1169 सामने आए हैं। भोपाल में भोपाल में कोरोना के 572 नए मरीजों की पहचान हुई। ग्वालियर में कोरोना के 555 मरीज मिले हैं। वहीं जबलपुर में 210 लोगों की रिपोर्ट पॉजिटिव आई है।



join WhatsApp group


पन्ना छोड़ सभी जिले कोरोना की चपेट में

कोरोना की तीसरी लहर में अब पन्ना को छोड़ दिया जाए तो प्रदेश के बाकी सभी जिलों में सक्रिय मरीज हैं। सोमवार तक मंडला जिले में भी कोई मरीज नहीं था, लेकिन मंगलवार को यहां पर नौ मरीज मिल गए हैं। प्रदेश के 52 जिलों में से हर दिन 45 से 47 जिलों में कोरोना के मरीज मिल रहे हैं। हर दिन जितने मरीज मिल रहे हैं, उनमें से 40 फीसद से ज्यादा सिर्फ इंदौर और भोपाल के होते हैं।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

You may have missed

Subscribe To Our Newsletter

[mc4wp_form id="69"]