श्री रावतपुरा सरकार विश्वविद्यालय रायपुर के राष्ट्रीय वेबीनार में गोवा प्रांत के माननीय राज्यपाल श्री श्रीधरन पिल्लई जी का सारस्वत व्याख्यान…

परम पूज्य श्री रविशंकर जी महाराज (श्री रावतपुरा सरकार) की आध्यात्मिक प्रेरणा से श्री रावतपुरा सरकार विश्वविद्यालय रायपुर में आज दिनांक 13 सितंबर 2021 को शिक्षा का महत्व विषय पर राष्ट्रीय वेबीनॉर का आयोजन किया गया। इस वेबीनार में गोवा प्रांत के माननीय राज्यपाल श्री श्रीधरन पिल्लई जी मुख्य अतिथि एवं मुख्य वक्ता के रूप में सम्मिलित हुए।

विशिष्ट अतिथि के रूप में विश्वविद्यालय के प्रति कुलाधिपति श्रीमान राजीव माथुर आईपीएस एवं सेवानिवृत्त पुलिस महानिदेशक, विश्वविद्यालय के कुलपति प्रोफ़ेसर (डॉ.) राजेश कुमार पाठक विशेष रूप से उपस्थित थे।

अपने स्वागत उद्बोधन में विश्वविद्यालय के कुलपति प्रोफेसर (डॉ.) राजेश कुमार पाठक जी ने मानव जीवन एवं समाज के लिए शिक्षा के महत्व पर प्रकाश डाला। उन्होंने कहा कि श्री रावतपुरा सरकार विश्वविद्यालय के विभिन्न शैक्षिक कार्यक्रमों के माध्यम से सारस्वत अनुष्ठान को सफलता के शिखर की ओर ले जाया जा रहा है। मानव जीवन में शिक्षा के महत्व पर प्रकाश डालते हुए कुलपति महोदय ने शिक्षा का महत्व विषय पर आयोजित इस राष्ट्रीय वेबीनार के प्रमुख उद्देश्य को रेखांकित किया।

विशिष्ट अतिथि के रूप में विश्वविद्यालय के प्रति कुलाधिपति श्रीमान राजीव माथुर जी ने आज के इस वेबीनॉर में मुख्यवक्ता माननीय राज्यपाल गोवा प्रांत श्री श्रीधरन पील्लई जी का उनके सहज योगदान के लिए आभार व्यक्त करते हुए भविष्य में उन्हें श्री रावतपुरा सरकार विश्वविद्यालय परिसर में आमंत्रित करने की बात की। अपने उद्बोधन में प्रति कुलाधिपति श्रीमान राजीव माथुर महोदय ने श्री रावतपुरा सरकार विश्वविद्यालय की शैक्षिक गतिविधियों और भविष्य की योजनाओं को उद्घाटित किया एवं परम पूज्य महाराज जी के संदेश को भी सभी के समक्ष प्रस्तुत किया की वे कहते है कि,समाज मे शिक्षा का संचार अति आवश्यक है । शिक्षा के बिना हमारा जीवन अंधकारमय एवं सूखे पुष्प की तरह है,जिसमे कोई सुगंध नही होती और वो किसी प्रकार की पूजा में भी काम नही आता । शिक्षा ही व्यक्ति के जीवन को महत्व प्रदान करती है एवं जीवन को सही दिशा देती है।

मुख्य अतिथि की आसंदी से मुख्य वक्ता के रूप में बोलते हुए गोवा प्रांत के राज्यपाल माननीय श्री श्रीधरन पिल्लई जी ने श्री रावतपुरा सरकार विश्वविद्यालय की शैक्षिक गतिविधियों की भुरी-भुरी प्रशंसा की और यहां के आध्यात्मिक एवं नैसर्गिक परिवेश की विशिष्टता का विशेष रुप से उल्लेख किया। मानव जीवन में शिक्षा के केंद्रीय महत्व को बताते हुए मुख्य वक्ता महोदय ने कहा कि विद्यालय मनुष्य की प्रथम पाठशाला एवं मां प्रथम आचार्य होती हैं। धीरे-धीरे शैक्षिक संस्थाओं के माध्यम से शिक्षा की यह पावन धारा हमारे जीवन में प्रवाहित होती है और अपने वरदान से हमारे जीवन को अलंकृत एवं उपकृत करती है।

भारत सरकार की नई शिक्षा नीति शिक्षा के मूल उद्देश्यों को क्रियान्वित करने के लिए बनाई गई है और विभिन्न योजनाओं के माध्यम से जन-जन में शिक्षा का प्रचार प्रसार करने के लिए शिक्षा के वरदान से सब को लाभान्वित करने के लिए श्री रावतपुरा सरकार विश्वविद्यालय अहर्निश क्रियाशील है।

माननीय राज्यपाल महोदय ने परम पूज्य गुरुदेव की आध्यात्मिक प्रेरणा के लिए उनकी वंदना एवं प्रार्थना निवेदित की।
इस कार्यक्रम में श्री रावतपुरा सरकार विश्वविद्यालय के विभिन्न संकाय के अधिष्ठाता गण, विभिन्न विभागों के विभागाध्यक्ष गण, पदाधिकारी गण एवं बड़ी संख्या में विद्यार्थी गण उपस्थित थे। विविध विषयों पर आयोजित राष्ट्रीय वेबीनॉर की श्रृंखला में अभी तक देश की बड़ी-बड़ी विभूतियों ने अपनी सहभागिता की है, जिसमें उड़ीसा के राज्यपाल, केरल के राज्यपाल छत्तीसगढ़ प्रांत के राज्यपाल एवं विभिन्न विश्वविद्यालयों के कुलपति, वरिष्ठ वैज्ञानिक एवं शिक्षाविद मुख्य रूप से उल्लेखनीय है। कार्यक्रम का संयोजन एवं संचालन विश्विद्यालय की ओ. एस. डी सुश्री मोनिका मिश्रा एवं समापन डॉ. आशीष सरकार के आभार एवं धन्यवाद ज्ञापन के साथ हुआ। श्री रावतपुरा सरकार विश्वविद्यालय रायपुर छत्तीसगढ़ में इस प्रकार के राष्ट्रीय एवं अंतर्राष्ट्रीय स्तर के उत्कृष्ट शैक्षिक कार्यक्रमों की श्रृखला अनवरत जारी है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

You may have missed

Subscribe To Our Newsletter

[mc4wp_form id="69"]