50 हजार करोड़ की गरीब कल्याण रोजगार स्कीम लॉंच, देश के 6 राज्यों के 116 राज्यों के श्रमिकों को मिलेगा फायदा।

नई दिल्ली, 20 जून 2020

प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने कोरोना संकटकाल में आर्थिक तंगी और बेरोजगारी का सामना कर रहे गरीब श्रमिकों को राहत देते हुए आज गरीब कल्याण रोजगार अभियान की शुरुआत की है। नई दिल्ली से वर्चुअल तरीके से बटन दबाकर प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने बिहार के खगड़िया जिले के तेलिहार गांव से योजना की शुरुआत की है।

योजना का शुभारंभ करते हुए प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने  कहा कि लद्दाख में हमारे वीरों ने जो बलिदान दिया, उस पर सेना को तो गर्व है ही। पराक्रम बिहार रेजीमेंट ने किया है, इसलिए हर बिहारी को इसका गर्व होता है। जिन वीरों ने देश के लिए बलिदान दिया है, उनके लिए नमन करता हूं। उनके परिवारों को विश्वास दिलाना चाहता हूं कि देश उनके साथ है।

गरीब कल्याण रोजगार अभियान 125 दिनों का होगा। इसे देश के 116 जिलों में चलाया जाएगा। इसका 25 हजार से ज्यादा प्रवासी कामगारों को फायदा मिलेगा। अभियान में रोजगार से जुड़े 25 प्रकार के काम कराए जाएंगे। इस पर 50 हजार करोड़ रुपए की राशि खर्च की जाएगी।

पीएम मोदी ने दिल्ली से लौटीं मजदूर स्मिता कुमारी से बात की। स्मिता ने बताया कि गांव में इंटर तक पढ़ाई की है। लॉकडाउन के समय दिल्ली में थे, वहां फैक्ट्री में काम करते थे, स्पेशल ट्रेन से गांव लौटे। मोदी ने पूछा कि लौटने में कोई दिक्कत नहीं हुई? मेरे लिए शिकायत तो नहीं है? कोई तो होगी, आप बताती नहीं हो? लगता होगा दिल्ली में अच्छे थे, मोदी जी ने ऐसा कर दिया कि हमें घर आना पड़ा। स्मिता ने कहा कि मैं गांव में शहद बनाने का काम शुरू करने का सोच रही हूं।

क्या है गरीब कल्याण रोजगार अभियान 

‘गरीब कल्याण रोजगार अभियान’ के तहत 25 तरह के कार्यो को शामिल किया है. कार्यों की सूची में कम्युनिटी सैनिटेशन कांप्लेक्स, ग्राम पंचायत भवन, वित्त आयोग निधि से करवाए जाने वाले कार्य, राष्ट्रीय राजमार्ग का कार्य, जल संरक्षण, कुओं का निर्माण, पौधारोपण, बागवानी, आंगनवाड़ी केंद्र के साथ-साथ प्रधानमंत्री ग्रामीण आवास योजना, प्रधानमंत्री ग्राम सड़क योजना, रेलवे का काम, प्रधानमंत्री किसान ऊर्जा सुरक्षा एवं उत्थान महाभियान योजना को शामिल किया गया है.”

देश के 116 जिलों में लौटे तकरीबन 67 लाख प्रवासी मजदूरों को 125 दिनों तक आजीविका का साधन मुहैया करवाने के लिए ‘गरीब कल्याण रोजगार अभियान’ का शुभारंभ किया गया. उसमें भारत नेट के तहत फाबर ऑप्टिक केबल बिछाना, जल जीवन मिशन, प्रधानमंत्री उर्जा गंगा परियोजना, कृषि विज्ञान केंद्र के माध्यम से आजीविका के लिए प्रशिक्षण, जिला खनिज निधि के तहत कार्य, ठोस व तरल कचरा प्रबंधन कार्य, तालाब, पशुशाला, वर्मी कंपोस्ट के कार्यों को भी शामिल किया गया है.

योजना से क्या-क्या मिलेगा।

  • ‘कोविड-19’ से लड़ने वाले प्रत्‍येक स्वास्थ्य कर्मी को बीमा योजना के तहत 50 लाख रुपये का बीमा कवर प्रदान किया जाएगा
  • 80 करोड़ गरीबों को अगले तीन महीने तक हर माह 5 किलो गेहूं या चावल और पसंद की 1 किलो दालें मुफ्त में मिलेंगी
  • 20 करोड़ महिला जन धन खाता धारकों को अगले तीन महीने तक हर माह 500 रुपये मिलेंगे
  • मनरेगा के तहत मजदूरी को 182 रुपये से बढ़ाकर 202 रुपये प्रति दिन कर दिया गया है, 13.62 करोड़ परिवार लाभान्वित होंगे
  • 3 करोड़ गरीब वरिष्ठ नागरिकों, गरीब विधवाओं और गरीब दिव्‍यांगजनों को 1,000 रुपये की अनुग्रह राशि दी जाएगी
  • सरकार वर्तमान ‘पीएम किसान योजना’ के तहत अप्रैल के पहले सप्ताह में किसानों के खाते में 2,000 रुपये डालेगी, 8.7 करोड़ किसान लाभान्वित होंगे
  • केंद्र सरकार ने निर्माण श्रमिकों को राहत देने के लिए राज्य सरकारों को ‘भवन और निर्माण श्रमिक कल्याण कोष’ का उपयोग करने के आदेश दिए हैं

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Subscribe To Our Newsletter