एमबीए यानी मास्टर ऑफ बिजनस ऐडमिनिस्ट्रेशन आपके लिए सुनहरे करियर की राह खोलता है।

ग्रेजुएशन के बाद सभी छात्र ये सोचते हैं कि उन्हें आगे किस फ़ील्ड में अपना करियर बनाना है उनमें कुछ छात्र ग्रेजुएशन के बाद MBA करने की भी सोचते है, यह कोर्स एक स्नातकोत्तर की डिग्री होती है जिसकी अवधि दो साल होती है एमबीए के मुख्य पाठ्यक्रम के अंतर्गत व्यवसाय विश्लेषण के विभिन्न क्षेत्रों जैसे लेखांकन, वित्त, विपणन, मानव संसाधन और संचालन को प्रबंधन विश्लेषण और रणनीति आदि आते है| यह कोर्स व्यापार अवधारणाओं में एक मजबूत सैद्धांतिक आधार प्रदान करता है|

MBA में एडमिशन, करियर, स्कोप, नौकरियां और सैलरी की पूरी जानकारी

एमबीए….मास्टर ऑफ बिजनेस एडमिनिस्ट्रेशन एक प्रतिष्ठित और चुनौतीपूर्ण करियर की राह आसान करने वाला कोर्स है। एमबीए में कैरियर को लेकर कोई भी दुविधा की बात नही होती है। अगर आपने किसी अच्छे कॉलेज से MBA Course किया है, तो आपको बहुत आसानी से जॉब मिल जाएगी। दूसरी बात ये है कि किसी भी संस्थान में मैनेजमेंट डिपार्टमेंट का अहम रोल होता है। मैनेजमेंट एक्सपर्ट को किसी भी कंपनी या संस्थान के मैनेजमेंट सिस्टम को कैसे हैंडल किया जाए, इसमे महारत हासिल होती है। हर तरह से कंपनी को मैनेज करना इनकीं जिम्मेदारी होती है। आज के समय मे कोई भी कॉलेज, यूनिवर्सिटी, हॉस्पिटल, कंपनी मैनेजमेंट प्रोफेशनल के बिना नही चल सकती है। हर जगह पर मैनेजमेंट एक्सपर्ट की डिमांड है। बस आपके अंदर टैलेंट होना चाहिए। इसमे कैरियर के लिए आपकी कम्युनिकेशन स्किल बहुत स्ट्रांग होना आवश्यक हैं।

MBA में एडमिशन:

एम.बी.ए में एडमिशन के लिए योग्यता

  • MBA में एडमिशन लेने के लिए किसी भी विषय में ग्रेजुएट होना आवश्यक है|
  • सामान्य वर्ग के उम्मीदवार के ग्रेजुएशन में 50% अंक और SC/ST के उम्मीदवार के 45% अंक होने चाहिए|
  • कुछ विश्वविद्यालय/ संस्थान MBA में एडमिशन के लिए प्रवेश परीक्षा करवाते है|
  • छात्रों का चयन प्रवेश परीक्षा में प्राप्त अंकों के आधार पर होता है|

MBA में प्रवेश के लिए कुछ प्रवेश परीक्षाए:

  • CAT(Common Admission Test)
  • MAT(Aima Management Aptitude Test)
  • GMAT(Graduate Management Aptitude Test)
  • CET (Common Entrance Test)
  • SNAP(Symbiosis National Aptitude Test)

एमबीए की कुछ ब्रांच

  • Human Resources (HR) में MBA:

किसी भी संगठन के लिए मानव संसाधन विभाग की ज़िम्मेदारी बहुत जरूरी है। एचआर विभाग कर्मचारियों की जरूरतों को चुनने, किराया, ट्रेन और पूरा करने के लिए जिम्मेदार है। इसलिए, एचआर विभाग को लोगों के प्रबंधन में अच्छा होना चाहिए, संचार में प्रभावी होना चाहिए और कर्मचारियों के साथ अच्छा संबंध होना चाहिए।

  • Finance में MBA:

Financeमें एमबीए की विशेषज्ञता बहुमूल्य साबित हो सकती है। यह एक कैरियर क्षेत्र है, जिसकी आवश्यकता गणित, अर्थशास्त्र और वित्तीय सिद्धांत में कौशल प्राप्त करने की होती है, जिनमें से सभी वित्त(Finance) डिग्री, विशेषज्ञता या ट्रैक में बहुत विस्तार से शामिल हैं। वित्त(Finance) में एमबीए प्रबंधन वर्गों के साथ गणितीय कठोरता को संतुलित करता है, और वित्त(Finance) में नौकरियों की दिशा में अपना कैरियर निर्देशित करने का एक अच्छा तरीका हो सकता है।

Marketing में MBA:

विपणन  में एमबीए, उन्नत व्यावसायिक रणनीतियों, कॉर्पोरेट प्रबंधन, मानव संसाधन और वित्त के पारंपरिक एमबीए कोर्स के अतिरिक्त उपभोक्ता व्यवहार, ब्रांड और उत्पाद प्रबंधन, पदोन्नति प्रबंधन और बिक्री रणनीतियों में विशेष शिक्षा प्रदान करता है।

MBA in Supply chain Management :

सप्लाई चैन मैनेजमेंट कोर्स के अंतर्गत एवेंट्री मैनेजमेंट, वेयरहाउसिंग और क्‍लाइंट्स या किसी कंपनी के द्वारा मागे गए मटेरियल के ट्रांस्पोरेशन की जानकारी दी जाती है। इन दिनों मे MBA की इस स्ट्रीम का बहुत ज्यादा स्कोप है। जिस तरह से बिजनेस ट्रांस्पोरेशन की गतिविधियां बढ रही है, जिससे इस फील्ड में कैरियर की संभावनाएं भी बढ रही हैं।

MBA in System :

एमबीए सिस्टम (आईटी) आज के दिनों में बहुत प्रचलित कोर्स है। ये कोर्स उन स्टूडेंट्स के लिए है, जिनको इन्फॉर्मेशन टेक्नोलॉजी में ज्यादा रुचि है। इस तरह के कैंडिडेट्स संगठन की ग्रोथ के लिए ताजा और अपटूडेट टेक्नॉलजी की पहचान करते हैं। वे फाइनैंशल और मैनेजीरियल विभागों में काम करते हैं। किसी टेक्नॉलजी के इस्तेमाल पर खर्च से जुड़ा विश्लेषण वे मुहैया कराते हैं। आईटी प्लानिंग, डिजाइनिंग, इम्प्लिमेन्टेशन, सिलेक्शन, एडमिनिस्ट्रेशन को अच्छी तरह से मैनेज कर सकें। यह कोर्स आईटी बैकग्राउंड वाले स्टूडेंट्स के लिए सही है, जिन्होंने आईटी में बीटेक, बीएससी कम्प्यूटर साइंस जैसे कोर्स कर रखे हैं।

MBA के बाद आप विभिन्न क्षेत्रो में अपना करियर बना सकते हैं.

  • एमबीए करने के बाद आप बैंकिंग क्षेत्र में जा सकते हैं|
  • एमबीए करने के बाद आप एक व्यापार संगठन में शामिल हो सकते हैं और धीरे-धीरे एक वरिष्ठ प्रबंधक के रूप में स्थिति तक पहुंच सकते हैं।
  • आप स्वयं के व्यवसाय शुरू कर सकते हैं|
  • एक एमबीए स्नातक विभिन्न सरकारी विभागों में कुछ उच्च प्रोफ़ाइल नौकरियों के लिए विकल्प चुन सकता है।
  • एमबीए करने के बाद आप बिक्री प्रबंधक, विपणन प्रबंधक, क्षेत्रीय प्रबंधक, बाजार अनुसंधान विश्लेषक आदि के रूप में काम करने का विकल्प चुन सकते हैं।
  • मानव संसाधन प्रबंधन के क्षेत्र में कैरियर के अवसर बहुत हैं|
  • आईटी विशेषज्ञ के साथ एक एमबीए स्नातक सिस्टम विश्लेषक, तकनीकी सिस्टम मैनेजर, और तकनीकी सलाहकार के रूप में काम कर सकते हैं।
  • एमबीए के दौरान विशेषज्ञता के रूप में सूचना प्रौद्योगिकी का चयन करने वालों के लिए कैरियर के अवसर बहुत बढ़िया हैं|
  • व्यवसाय परामर्श, शैक्षिक संस्थानों, निर्यात कंपनियों, उद्योगों, बहुराष्ट्रीय कंपनियों, वित्तीय संगठनों, गैर-लाभकारी संगठनों और बीमा क्षेत्रों में जा सकते हैं

Master Of Bussiness Administration(MBA) के बाद सैलरी:

एमबीए करने के बाद आप विभिन्न क्षेत्रो में जाते है और हर क्षेत्र में आपकी सैलरी भिन्न होती है,और आपकी सैलरी कंपनी पर भी निर्भर करती है कि आप किस कंपनी में और किस प्रोफाइल में काम कर रहे है| इस क्षेत्र में आपकी शुरुआत में सैलरी 30,000 से 50,000 हो सकती है, और अनुभव के बाद इस क्षेत्र में सैलरी 70,000 या इससे अधिक भी हो सकती है|

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

You may have missed

Subscribe To Our Newsletter