विश्व कैंसर दिवस पर श्री रावतपुरा सरकार इंस्टीट्यूट ऑफ नर्सिंग, शहडोल की छात्राओं ने पीपीटी के जरिये समझाए कैंसर के कारण, बचाव और समाधान।

4 फरवरी, शहडोल

विश्व कैंसर दिवस के अवसर पर श्री रावतपुरा सरकार इंस्टीट्यूट ऑफ नर्सिंग, शहडोल में सेमिनार का आयोजन किया गया। जिसमें बीएससी नर्सिंग एवं जीएनएम नर्सिंग के स्टूडेंट्स ने हिस्सा लिया।

सेमिनार में शामिल छात्राओं ने पीपीटी के जरिए कैंसर के कारण, प्रकार, रोकथाम, निदान और बचाव पर अपने विचार व्यक्त किये। छात्राओं ने कहा कि भारत में सभी स्वास्थ्य संगठनों ने कैंसर दिवस पर कैंसर के प्रति जागरुकता फैलाने का निश्चय लिया है। भारत उन देशों में काफ़ी आगे है जहां तंबाकू और अन्य नशीले पदार्थों की वजह से कैंसर के मरीजों की संख्या बहुत ज़्यादा है।

कैंसर एक ऐसी बीमारी है जिसका इलाज अभी तक मुमकिन नहीं हो पाया है पर इसे काबू करना और इससे बचाव संभव है। वैसे कैंसर हो जाने पर इससे छुटकारा पाना मुश्किल होता है पर नामुमकिन नहीं।

मरीज़ अगर दृढ़ इच्छाशक्ति से इस बीमारी का सामना करे और सही समय पर इलाज मुहैया हो तो इलाज संभव हो जाता है। साथ ही हमेशा से माना जाता है कि उपचार से बेहतर है बचाव। इसी तरह कैंसर होने के बचे रहने में ज़्यादा समझदारी है।

छात्राओं ने कहा कि कैंसर से बचने के लिए तंबाकू उत्पादों का सेवन बिलकुल न करें। कैंसर का ख़तरा बढ़ाने वाले संक्रमणों से बचकर रहें। चोट आदि होने पर उसका सही उपचार करें और अपनी दिनचर्या को स्वस्थ बनाए।

कैंसर के ज़्यादातर मामलों में फेफड़े और गालों के कैंसर देखने में आते हैं, जो तंबाकू उत्पादों का अधिक सेवन करने का नतीजा होता है। ऐसे मामलों में उपचार बेहद जटिल हो जाता है और मरीज़ के बचने के चांस भी कम हो जाते हैं।

इसके साथ ही आजकल महिलाओं में स्तन कैंसर काफ़ी ज़्यादा देखने में आ रहा है जो बेहद खतरनाक होने के साथ काफ़ी पीड़ादायक होता है। यदि सही समय पर अगर इसके लक्षणों को पहचान कर उपचार किया जाए तो इसका इलाज बेहद सरल बन जाता है।

कैंसर से सबसे ज़्यादा ख़तरा होता है युवाओं को जो आजकल की भागदौड़ भरी ज़िंदगी में खुद को तनाव मुक्त रखने के लिए धूम्रपान का सहारा लेते हैं। विश्व को कैंसर मुक्त करने के लिए आप भी कदम बढ़ाएं और खुद तथा अपने सगे सबंधियों को तंबाकू, सिगरेट, शराब आदि से दूर रहने की सलाह दीजिए।

इस अवसर पर कॉलेज के सीएओ दीपक सिंह, प्रिंसिपल हेपशिबा, टीचर्स, स्टाफ एवं अन्य कर्मचारी उपस्थित रहे।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

You may have missed

Subscribe To Our Newsletter