वर्ल्ड कैंसर डे पर जगदलपुर इंस्टीट्यूट ऑफ नर्सिंग के स्टूडेंट्स ने धुर नक्सल प्रभावित क्षेत्र में निकाली जागरूकता रैली।

जगदलपुर, 04 फरवरी 2020

विश्व कैंसर दिवस पर लोगों को कैंसर के प्रति जागरूक करने के लिए जगदलपुर इंस्टीट्यूट ऑफ नर्सिंग के छात्र-छात्राओं ने धुर नक्सल प्रभावित क्षेत्र में जागरूकता रैली निकाली। बस्तर संभाग के बकावंड औऱ आड़ावाल में जगदलपुर इंस्टीट्यूट ऑफ नर्सिंग के स्टूडेंट्स ने कम्युनिटी रैली निकालकर कैंसर से बचने का संदेश दिया।

जागरूकता रैली में जगदलपुर इंस्टीट्यूट ऑफ नर्सिंग के प्रिंसिपल रविताश पीटर, सीएओ, नर्सिंग शिक्षक, स्टाफ और अन्य कर्मचारियों के साथ-साथ पीएचसी एवं सीएचसी के डॉक्टर व नर्सें भी शामिल हुए। शामिल हुए।

4 फरवरी 1933 में अंतर्राष्ट्रीय कैंसर नियंत्रण संघ ने स्विट्जरलैंड के जेनेवा में पहली बार विश्व कैंसर दिवस मनाया था। यह दिवस कैंसर के बारे में जागरूकता बढ़ाने, लोगों को शिक्षित करने, इस रोग के खिलाफ कार्रवाई करने के लिए दुनिया भर में सरकारों और व्यक्तियों को समझाने तथा हर साल लाखों लोगों को मरने से बचाने के लिए मनाया जाता है।

इस अवसर पर जगदलपुर इंस्टीट्यूट ऑफ नर्सिंग के प्रिंसिपल रविताश पीटर ने कहा कि दुनिया भर में हर साल 76 लाख लोग कैंसर से दम तोड़ देते हैं। जिनमें से 40 लाख लोग समय से पहले (30-69 वर्ष) में मर जाते हैं। इसलिए समय की मांग है कि इस बीमारी के बारे में जागरूकता बढ़ाने के साथ कैंसर से निपटने की व्यावहारिक रणनीति विकसित की जाए।

जागरूकता रैली में शामिल सीएचसी के डॉक्टरों ने कहा कि वर्ष 2025 तक विश्व भर में कैंसर के कारण समय से पहले होने वाली मौतों का आंकड़ा बढ़कर प्रति वर्ष 60 लाख होने का अनुमान है।

यदि विश्व स्वास्थ्य संगठन के 2025 तक कैंसर के कारण समय से पहले होने वाली मौतों में 25 प्रतिशत कमी के लक्ष्य को हासिल किया जाए तो हर साल 15 लाख जीवन बचाए जा सकते हैं

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

You may have missed

Subscribe To Our Newsletter