श्री रावतपुरा सरकार यूनिवर्सिटी में उच्च शिक्षा में नई पहल विषय पर एक दिवसीय राष्ट्रीय सेमिनार का आयोजन, यूजीसी चेयरमैन डॉ. डीपी सिंह ने पेश किया उच्च शिक्षा में गुणवत्ता सुधार का खाका।

रायपुर, 6 जनवरी 2020

श्री रावतपुरा सरकार यूनिवर्सिटी धनेली रायपुर में सोमवार को उच्च शिक्षा में नई पहल को लेकर विशेषज्ञों ने अपने विचार व्यक्त किये। मौका था न्यू इनिशिएटिव इन हायर एजूकेशन विषय पर आयोजित एक दिवसीय राष्ट्रीय सेमिनार का। जिसमें मुख्य अतिथि छत्तीसगढ़ की राज्यपाल महामहिम सुश्री अनसुईया उइके रहीं।

सेमिनार में मुख्य वक्ता के रूप में विश्वविद्यालय अनुदान आयोग के अध्यक्ष डॉ. धीरेन्द्र पाल सिंह उपस्थित रहे। करीब 40 विश्वविद्यालयों के कुलपति, कॉलेजों के प्रिंसिपल और  शिक्षक इस महत्वपूर्ण कार्यक्रम के हिस्सा बने। कार्यक्रम की शुरुआत दीप प्रज्जवलन, राष्ट्रगान और राज्यगीत के साथ की गई।

इसके बाद महामहिम राज्यपाल सुश्री अनसुईया उइके ने अपना उद्घाटन भाषण दिया। राज्यपाल अनसुईया उइके ने प्रदेशभर के कुलपतियों का इतना महत्वपूर्ण सम्मेलन बुलाने के लिए श्री रावतपुरा सरकार यूनिवर्सिटी प्रबंधन को धन्यवाद दिया। उन्होंने कहा कि उच्च शिक्षा संस्थानों और उच्च शिक्षा में गुणवत्ता को लेकर वो बेहद सजग हैं और आज इस सेमिनार के माध्यम से जो भी सवाल सामने आएंगे उन्हें वो अपने स्तर पर पूरा कराने की भरपूर कोशिश करेंगी।

इस अवसर पर श्री रावतपुरा सरकार यूनिवर्सिटी के कुलाधिपति अनंत श्री विभूषित श्री रावतपुरा सरकार महाराज मौजूद रहे। श्री रावतपुरा सरकार महाराज ने शॉल ओढाकर एवं स्मृति चिन्ह भेंटकर महामहिम राज्यपाल अनसुईया उइके और यूजीसी चेयरमैन डॉ. धीरेन्द्र पाल सिंह का सम्मान किया।

इस अवसर पर श्री रावतपुरा सरकार यूनिवर्सिटी की त्रैमासिक पत्रिका एसआरयू टाइ्म्स के जनवरी माह के अंक का विमोचन महामहिम राज्यपाल अनसुईया उइके के कर कमलों से कराया गया।

राज्यपाल के अभिभाषण पर श्री रावतपुरा सरकार यूनिवर्सिटी के कुलपति डॉ. अंकुर अरुण कुलकर्णी की ओर से धन्यवाद ज्ञापित किया गया। इसके बाद यूजीसी चेयरमैन डॉ. धीरेन्द्र पाल सिंह ने उच्च शिक्षा में गुणवत्ता सुधार के लिए विश्वविद्यालय अनुदान आयोग द्वारा की जा रही नई पहल की जानकारी दी।

पावर पॉइंट प्रेजेंटेशन के जरिए डॉ. धीरेन्द्र पाल सिंह ने बताया कि वर्ष 2018 में यूजीसी ने उच्च शिक्षा में गुणवत्ता सुधार कार्यक्रम अधिदेश को अपनाया था। जिसके बाद यूजीसी ने 2022 तक सभी उच्च शिक्षा संस्थानों के लिए राष्ट्रीय मूल्यांकन एवं प्रत्यायन परिषद (नैक) एक्रिडेशन लिया जाना सुनिश्चित किया है। 

डॉ. धीरेन्द्र पाल सिंह ने कहा कि यूजीसी की ओर से उच्च शिक्षा में गुणवत्ता सुधार के लिए 12 सूत्रीय उपाय किये गए हैं। जिनमें छात्रों के लिए प्रेरण कार्यक्रम, शिक्षा परिणाम आधारित पाठ्यक्रम रूपरेखा में संशोधन, प्रभावी शिक्षण शिक्षा प्रक्रिया के लिए आईसीटी आधारित शिक्षा उपकरणों का उपयोग, छात्रों के लिए जीवन कौशल, प्रत्येक संस्थान का सामाजिक और उद्योग से जुड़ाव, छात्र करियर प्रगति और पूर्व छात्र नेटवर्क, संकाय प्रेरण कार्यक्रम, अनुसंधान को बढ़ावा देना और नए ज्ञान का सृजन, परामर्श, सतत-उच्च शैक्षणिक संस्थानों में मानव मूल्यों और व्यावसायिक आचार नीति के लिए दिशा निर्देश, मूल्य प्रवाह-उच्च शैक्षणिक संस्थानों में मानव मूल्यों और व्यावसायिक आचार नीति के लिए दिशा निर्देश और मूल्यांकन सुधार। 

यूजीसी चेयरमैन का वक्तव्य समाप्त होने के बाद उपस्थित कुलपतियों, प्रिंसिपलों की ओर से कुछ सवाल पूछे गए, जिनका समुचित जवाब डॉ.धीरेन्द्र पाल सिंह द्वारा दिया गया। कार्यक्रम की समाप्ति पर डॉ. सिंह की ओर से महाराज श्री रावतपुरा सरकार को नमन किया गया और एसआरयू प्रबंधन को इस आयोजन के लिए धन्यवाद दिया गया।

इस अवसर पर एसआरयू के कुलपति डॉ. प्रो. अंकुर अरुण कुलकर्णी ने कहा कि उच्च शिक्षा में नई पहल विषय पर सेमिनार आयोजित करने का सौभाग्य प्राप्त होना यूनिवर्सिटी के लिए बड़ी उपलब्धि है। उन्होंने कहा कि यूजीसी द्वारा उच्च शिक्षा के लिए निर्धारित किए गए उच्च मानकों को वो अपने संस्थान में लागू करवाने का सौ फीसदी प्रयास करेंगे और जरूरत होने पर डॉ. सिंह का मार्गदर्शन पुन प्राप्त किया जाएगा।

कार्यक्रम के अंत में एसआरयू के कुलपति डॉ. कुलकर्णी ने सभी आगंतुकों को धन्यवाद दिया। इस अवसर पर अनंत श्री विभूषित श्री रावतपुरा सरकार महाराज, श्री रावतपुरा सरकार ग्रुप ऑफ इंस्टीट्यूशंस के उपाध्यक्ष डॉ. जे.के. उपाध्याय, एसआरयू के निदेशक अतुल कुमार तिवारी, एसआरआई स्कूल के डायरेक्टर डॉ. अनिल शर्मा, संस्था के जनसंपर्क अधिकारी चौ.माधो सिंह, यूनिवर्सिटी के शिक्षक, कर्मचारी एवं अन्य स्टाफ उपस्थित रहे। इस मौके पर बड़ी संख्या में यूनिवर्सिटी के विद्यार्थी, शोधार्थी और अन्य शिक्षण संस्थानों से आए करीब 400 गणमान्य लोग मौजूद रहे।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

You may have missed

Subscribe To Our Newsletter