श्री रावतपुरा सरकार इंस्टीट्यूट कुम्हारी में सड़क सुरक्षा एवं यातायात प्रशिक्षण कार्यक्रम का आयोजन।

????????????????????????????????????

दुर्ग- 17 जनवरी 20202

कुम्हारी स्थित श्री रावतपुरा सरकार इंस्टीट्यूट में आज 31वें राष्ट्रीय सड़क सुरक्षा यातायात जागरूकता एवं प्रशिक्षण कार्यक्रम का आयोजन किया गया। अतिरिक्त पुलिस अधीक्षक (यातायात) लखन पाटले ने विद्यार्थियोंं को सड़क यातायात के नियमों के बारे में विस्तार से समझायाा।

????????????????????????????????????

जागरूकता एवं प्रशिक्षण कार्यक्रम में सड़क दुर्घटनाओं को रोकने और संभावित दुर्घटनाओं से बचाव के तरीकों के बारे में पीपीटी के जरिए जानकारी दी गई। एडिशनल एसपी लखन पाटले ने कहा कि देश में बीमारी से ज्यादा सड़क दुर्घटनाओं में जान गंवाने वालों की दर सबसे ज्यादा है। ज्यादातर सड़क हादसों के पीछे यातायात नियमों का ठीक से पालन नहीं करना ही वजह होती है। लखन पाटले ने कहा कि चार पहिया वाहन चलाते समय हमेशा सीट बेल्ट बाँधनी चाहिये। जबकि दोपहिया वाहन इस्तेमाल करने पर चालक और पीछे बैठने वाले व्यक्ति को हेलमेट पहनना चाहिये।

????????????????????????????????????

उन्होंने कहा कि कुछ लोग पैसे बचाने के चक्कर में घटिया क्वालिटी का हेलमेट इस्तेमाल करते हैं जो हादसा होने पर उनके सिर की सुरक्षा नहीं कर पाता है। ऐसे में जान चली जाती है।

????????????????????????????????????

इस अवसर पर स्टूडेंट्स को पीपीटी के जरिए सड़क संकेतों को भी समझाया गया। राष्ट्रीय राजमार्गों पर हर जगह सड़क संकेत लगे होते हैं, लेकिन वाहन चालक इन सड़क संकेतों की अनदेखी कर देते हैं,इसका नतीजा ये होता है कि जरा सी लापरवाही बरतने पर बड़ा हादसा हो जाता है।

????????????????????????????????????

इस अवसर पर श्री रावतपुरा सरकार इंस्टीट्यूट कुम्हारी के निदेशक एम.के. श्रीवास्तव ने एडिशनल एसपी लखन पाटले को रावतपुरा संस्थान के रास्ते को हाईवे से जोड़ने वाले रास्ते पर दोनों तरफ डिवाइडर बनाने का ज्ञापन भी सौंपा गया।

एम.के. श्रीवास्तव ने कहा कि राष्ट्रीय राजमार्ग पर वाहनों की रफ्तार काफी ज्यादा होती है। स्टूडेंट्स को हाईवे को क्रॉस करके संस्थान के लिए आना पड़ता है। लेकिन संस्थान के रास्ते को जोड़ने के लिए सर्विस लेन पर भी वाहन तेज गति से चलते हैं, ऐसे में हाईवे और सर्विस लेन दोनों पर संस्थान के रास्ते को जोड़ने वाली जगह पर डिवाइडर बनाया जाना बेहद जरूरी है। कई बार इस जगह पर विद्यार्थी सड़क हादसे का शिकार हुए हैँ।

एडिशनल एसपी लखन पाटले ने संस्थान के ज्ञापन पर सहानुभूतिपूर्वक विचार कर जल्द ही डिवाइडर बनवाने का आश्वासन दिया है।

सड़क सुरक्षा जागरूकता एवं प्रशिक्षण कार्यक्रम में फार्मेसी विभाग की प्रिंसिपल डॉ. चंचलदीप कौर, एमटीसीएन की प्रिंसिपल के. दीपा, एसआरआई स्कूल की प्रिंसिपल डॉ. प्रीति गुरनानी, रजिस्ट्रार विजय सगोरिया, शिक्षक एवं अन्य स्टाफ मौजूद रहे।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

You may have missed

Subscribe To Our Newsletter