समाज के हर व्यक्ति को शिक्षित करके ही असली स्वतंत्रता प्राप्त हो सकती है : महाराज श्री रावतपुरा सरकार

रायपुर, 15 अगस्त

“जब तक देश के किसी भी गांव, शहर या कबीले में एक भी व्यक्ति अशिक्षित है, तब तक हमें वास्तविक स्वतंत्रता प्राप्त नहीं हो पाएगी। देश को अंग्रेजी शासन से 200 वर्ष के कड़े संघर्ष के बाद राजनीतिक और संवैधानिक स्वतंत्रता 15 अगस्त सन् 1947 को प्राप्त हो गई लेकिन आजादी के 73 वर्ष बाद भी देश को अशिक्षा, गरीबी, बेरोजगारी, महंगाई, और सामाजिक छूआछूत से आजादी नहीं मिल पाई है। देश चंद्रमा, मंगल और अंतरिक्ष तक तो अपनी पहुंच बना रहा है लेकिन तमाम कानूनों के बावजूद हम देश की युवा पीढ़ी को नशे, अपराध, हिंसा के गर्त में जाने से नहीं रो पा रहे हैं, और इसके पीछे की वजह है शिक्षा की रोशनी का हर जगह नहीं पहुंच पाना”।

 ये विचार अनंत विभूषित श्री रविशंकर जी महाराज श्री रावतपुरा सरकार ने 73वें स्वतंत्रता दिवस के अवसर पर श्री रावतपुर सरकार आश्रम धनेली में आयोजित कार्यक्रम में व्यक्त किये।

महाराज श्री रावतपुरा सरकार पिछले 35 दिनों से जनकल्याण के लिए धनेली आश्रम में रहकर चातुर्मास व्रत कर रहे हैं। 15 अगस्त को महाराज श्री रावतपुरा सरकार ने अपने दिव्य हाथों से तिरंगा झंडा फहराया।

इस अवसर पर सेना के सेवानिवृत कर्नल श्रीधर उत्तरवार और श्री रावतपुरा सरकार यूनिवर्सिटी के कुलपति प्रो. डॉ. अंकुर अरुण कुलकर्णी एवं ग्रुप के कार्यकारी निदेशक पी.सी. मिश्रा मौजूद रहे।

73वें स्वतंत्रता दिवस के उपलक्ष्य में श्री रावतपुरा सरकार आश्रम धनेली में सांस्कृतिक कार्यक्रम आयोजित किये गए। जिसमें बड़ी संख्या में शहर के प्रबुद्धजन, गणमान्य नागरिक, भक्तगण एवं अभिभावक उपस्थित रहे।

महाराज श्री रावतपुरा सरकार कार्यक्रम के मुख्य अतिथि के रूप में उपस्थित रहे। कार्यक्रम का संचालन सेवानिवृत ग्रुप कैप्टन डॉ. अनिल शर्मा ने किया। इस अवसर पर श्री रावतपुरा सरकार संस्कृत महाविद्यालय चित्रकूट से आए विद्यार्थी, श्री रावतपुरा सरकार यूनिवर्सिटी के विद्यार्थी और श्री रावतपुरा सरकार इंटरनेशनल स्कूल धनेली के विद्यार्थियों ने देशभक्ति आधारित नाटक, गीत-संगीत की प्रस्तुतियां दीं।

इस अवसर पर महाराज श्री रावतपुरा सरकार ने उपस्थित जनसमूह को संबोधित किया। रावतपुरा सरकार ने कहा कि उनका बचपन बीहड़ों और घने जंगलों से घिरे एक ऐसे गांव में बीता जहां न स्कूल था, न सड़क थी, न रोशनी थी। गांव की बदहाली दूर करने और लोगों में शिक्षा की अलख जगाने के लिए उन्होंने शिक्षा का बीज रोपने का संकल्प लिया।

जिसके बाद तमाम लोगों की मदद से महाराज श्री का रोपा हुआ शिक्षा का बीज आज वटवृक्ष बनकर पुष्पित और पल्लवित हो रहा है। शिक्षा के इस वटवृक्ष की छायातले तमाम विद्यार्थी शिक्षा ग्रहण करके अपना भविष्य बना रहे हैं। वहीं रावतपुरा सरकार शिक्षण संस्थाओं से जुड़े तमाम शिक्षक, कर्मचारी और स्टाफ रोजगार प्राप्त कर अपने परिवार का भरण-पोषण कर रहे हैं।

महाराज श्री रावतपुरा सरकार शिक्षा के व्यवसायीकरण के विरोध में शुरु से रहे हैं। यही वजह है कि श्री रावतपुरा सरकार ग्रुप ऑफ इंस्टीट्यूशंस के सभी शिक्षा संस्थानों में कम फीस लेकर उच्च गुणवत्ता की शिक्षा प्रदान की जा रही है। युवा सिर्फ डिग्री लेकर न भटकें, इसके लिए रावतपुरा सरकार लोक कल्याण ट्रस्ट के तहत संचालित सभी शिक्षा संस्थानों में रोजगारपरक पाठ्यक्रम संचालित किये जा रहे हैं।

जिनमें बीएससी नर्सिंग, जीएनएम नर्सिंग, फार्मेसी, इंजीनियरिंग, बीएड, डीएड, आईटीआई, बीपीएड आदि पाठ्यक्रम चलाए जा रहे हैं। गत वर्ष श्री रावतपुरा सरकार यूनिवर्सिटी शुरु करके मास कम्यूनिकेशन एवं जर्नलिज्म, फैशन डिजाइनिंग, इंटीरियर डिजाइनिंग, एयरोनोटिक्स इंजीनियरिंग, मैकेनिकल इंजीनियरिंग, कम्प्यूटर साइंस इंजीनियरिंग, बीबीए, एमबीए. बीए,. बीएससी, बीकॉम, एमफिल, पीएचडी जैसे कोर्स भी शुरु किये गये हैं।

ये महाराज श्री रावतपुरा सरकार का आशीर्वाद और दृढ संकल्प का ही नतीजा है कि श्री रावतपुरा सरकार शिक्षा संस्थान मध्य भारत का सबसे बड़ा एजूकेशनल ग्रुप बन चुका है। ग्रुप के हर साल नए कॉलेज खोले जा रहे हैं, जहां छात्रावास और परिवहन की सुविधा मुहैया कराकर विद्यार्थियों का भविष्य गढ़ा जा रहा है।  

श्री रावतपुरा सरकार ग्रुप ऑफ इंस्टीट्यूशंस, श्री रावतपुरा सरकार यूनिवर्सिटी एवं श्री रावतपुरा सरकार इंटरनेशनल स्कूल प्रबंधन महाराज श्री के लिए गए संकल्प को पूरा करने के लिए लगातार काम कर रहा है। सभी शिक्षा संस्थानों में समन्वय बनाकर, फिजूलखर्ची पर लगाम लगाकर, विद्यार्थियों के भविष्य को संजाने-संवारने की कोशिश में ग्रुप के वाइस चेयरमैन डॉ. जे.के. उपाध्याय दिन रात मेहनत कर रहे हैं।

उनकी टीम में शामिल भारतीय वन सेवा के सेवानिवृत अफसर, भारतीय सेना और वायुसेना के सेवानिवृत अफसर, भारतीय पुलिस सेवा के सेवानिवृत अधिकारी आदि महाराज श्री के संकल्प और सपने को पूरा करने में लगे हुए हैं।

73वें स्वतंत्रता दिवस पर इस सपने को पूरा करने का संकल्प एक बार फिर से महाराज श्री रावतपुरा सरकार की मौजूदगी में लिया गया है। महाराज श्री रावतपुरा सरकार ने स्वतंत्रता दिवस के अवसर पर आयोजित कार्यक्रम के सफल आयोजन के लिए आयोजन समिति को बधाई दी और बच्चों को अपना आशीर्वाद प्रदान किया।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

You may have missed

Subscribe To Our Newsletter