श्री रावतपुरा सरकार यूनिवर्सिटी में महिलाओं के कानूनी एवं संवैधानिक अधिकारों पर नेशन वाइड कॉम्पिटीशन

कोलंबिया कॉलेज की छात्रा डालिम को मिला प्रतियोगिता का प्रथम पुरस्कार

श्री रावतपुरा सरकार यूनिवर्सिटी, धनेली में को महिलाओं के कानूनी एवं संवैधानिक अधिकारों को लेकर दूसरा नेशन वाइड इंटर कॉलेज कॉम्पिटीशन नेशनल कमीशन फॉर वूमन और यूजीसी के संयुक्त तत्वावधान में आयोजित किया गया। जिसमें प्रदेश के अलग-अलग कॉलेजों से आए यूजी एवं पीजी स्टूडेंट्स ने पार्टिसिपेट किया।

डेढ़ घंटे की लिखित परीक्षा में महिलाओं के कानूनी एवं संवैधानिक अधिकार विषय को लेकर प्रश्न पूछे गए। पूछे गए प्रश्नों का सही जवाब देकर फर्स्ट आने वाले स्टूडेंट को दो हजार रुपये, सेकंड आने वाले को 1500 रुपये और थर्ड आए स्टूडेंट्स को एक हजार रुपये और सर्टिफिकेट प्रदान किया गया। प्रतियोगिता में कोलंबिया कॉलेज की छात्रा मिस डालिम प्रथम स्थान पर रहीं। कार्यक्रम की मुख्य अतिथि गवर्नमेंट जे.वाय. छत्तीसगढ़ पीजी कॉलेज की विभागाध्यक्ष प्रो. डॉ. विनीता अग्रवाल ने अपने हाथों से विजेताओं को इनाम की राशि और प्रमाण पत्र प्रदान किये। प्रो. डॉ. विनीता अग्रवाल ने कहा कि 15 अगस्त 1947 और 26 जनवरी 1950 का दिन हर भारतीय के लिए बेहद अहम हैं। 1947 में देश को राजनैतिक आजादी मिली थी, लेकिन 26 जनवरी 1950 को नागरिकों को संवैधानिक अधिकारों के साथ सिर उठाकर जीने का कानूनी अधिकार मिला। उन्होंने कहा कि हर महिला को अपने कानूनी एवं संवैधानिक अधिकारों की जानकारी होना बेहद जरूरी है। लेकिन समाज में ऐसी तमाम महिलाएं हैं जो अपने संवैधानिक अधिकारों से अनजान हैं। ऐसे में इस तरह के आयोजन छात्राओं को उनके कॉस्टीट्यूशनल राइट्स की जानकारी देने में सहायक सिद्द होते हैँ।

इस अवसर पर श्री रावतपुरा सरकार यूनिवर्सिटी के कुलपति प्रोफेसर डॉ. अंकुर अरुण कुलकर्णी, कुलसचिव प्रोफेसर डॉ. विवेक इंदर कोछड़, नर्सिंग प्रिंसिपल अन्नपूर्णा साहू, संस्थान के डिप्टी डायरेक्टर माधो सिंह, शिक्षक गण एवं अन्य स्टाफ मौजूद रहे।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

You may have missed

Subscribe To Our Newsletter